जब कमजोरी बन जाती है ताकत

जब कमजोरी बन जाती है ताकत

बचपन से सुनते आए हैं कि सौ प्रतिशत कोई नहीं होता। हर किसी में कोई न कोई कमी जरूर होती है। कुदरत की देन पर अफसोस करते रहने से कुछ नहीं होता। जिंदादिली से जीने वाले उसी कमजोरी को अपनी ताकत व सीढ़ी बनाकर ऊपर ही ऊपर चढ़ते जाते हैं। वे भी हम में से एक होते हैं पर अपनी हिम्मत के बल पर भीड़ से अलग अपनी खास पहचान बना लेते हैं।आइए, आपको भी मिलवाते हैं ऐसी शख्सियतों से।

सुनीता तिवारी

स्वर्ग की अप्सराओं की कल्पना धरती पर रहने वाले साधारण इनसानों में करना गलत है।आकर्षक से आकर्षक व्यक्तित्व वाले धरतीवासियों में भी ढूंढ़ने पर कई खामियां दिख जाती हैं। अपने अंदर की कमियों को अपने दिलो-दिमाग पर हावी कर लिया जाए, तो जीवन जीना दूभर हो जाता है। अगर अपनी खामियों को भी तहेदिल से स्वीकार लिया जाए तो वही खामियां आपकी दोस्त की तरह ताकत बनकर साथ देती हैं और नए रास्ते दिखाती हैं।

हमारे सामने कई उदाहरण हैं जैसे जाने-माने अभिनेता अशोक कुमार की बेटी प्रीति गांगुली काफी मोटी रही हैं उन्होंने उसी मोटापे से हंसा-हंसाकर हिंदी फिल्मों में काम किया। उनके द्वारा निभाया गया एक रोल आज भी जहन में है जहां वह जिंदगी से तंग आकर फांसी लगाने के लिए दरवाजे के रोशनदान में साड़ी का फंदा लगाती हैं मगर जैसे ही फंदे पर झूलने की कोशिश करती हैं कि वह रोशनदान ही पूरा उखड़कर नीचे गिर जाता है। इसी तरह केष्टो मुखर्जी ने बॉलीवुड में खासा नाम कमाया। वह हीरो तो बन नहीं सकते थे पर अपनी छवि को सीढ़ी बनाया और शराबी का रोल निभाते रहे।

उमा जी हां, ठीक पहचाना आपने बॉलीवुड की हास्य अदाकारा टुनटुन। उन्होंने भी अपनी भारी काया के बल पर हंसा-हंसाकर दर्शकों के दिलों में खास स्थान पाया था। फिल्म में उनके रोल की अपनी ही अहमियत होती थी।

भारती सिंह का बचपन                                                                            

बहुत हंसने-हंसाने वाली भारती के बचपन के दिन काफी संघर्ष भरे थे। वह अमृतसर की रहने वाली हैं, वैसे राजपूत परिवार से हैं। जब वह सिर्फ दो साल की थीं, तो उनके सिर से पिता का साया हट गया। वे तीन भाई-बहन हैं। उनकी मम्मी ने काफी मेहनत करके अपने बच्चों को पाला। शायद यही कारण है कि अपनी मां से ही पापा का भी प्यार पाने वाली भारती को अपनी मम्मी दुनिया में सबसे अच्छी लगती हैं।

बहुत कम लोग जानते हैं कि भारती नेशनल लेवल की शूटिंग की गोल्ड मेडलिस्ट हैं। उन्हें आर्चरी का भी बहुत शौक है। भारती का कहना है कि “अभी जिंदगी में बहुत व्यस्तता है, फुरसत मिलने पर फिर से अपने शौक को तरोताजा करुंगी।“

कामेडी से बना करियर

पहली बार ऑडिशन के लिए ऑफर मिला तो सीधी-सादी सी भारती ने कभी नहीं सोचा था कि वह सलेक्ट हो जाएंगी। भारती बचपन से ही मोटी थीं, उन्होंने अपने भारी शरीर को ही अपनी ताकत बनाया और लोगों के दिलों में जगह बनाते हुए खूब नाम कमाया।

दूसरों पर हंसना-हंसाना तो साधारण बात है पर अपने को हंसी का पात्र बनाकर किसी के चेहरे पर हंसी लाना बड़ी बात है। यह हर किसी के बस की बात नहीं, बड़ा जिगर चाहिए इसके लिए।

भारती कई वर्षों से स्टैंडअप कामेडी कर रही हैं। द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज, कपिल शर्मा शो, खतरा खतरा शो, सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स, कामेडी सर्कस, झलक दिखा जा, बिग बॉस, नच बलिए आदि के अलावा कुछ फिल्मों में भी उन्होंने भूमिका निभाई है। काल्पनिक पात्र लल्ली जो भारती की पहचान बन गया है वह भारती को भी काफी पसंद है। आजकल वह अवॉर्ड शो व रियालिटी शो की एंकरिंग भी कर रही हैं।

हंसना और हंसाना

भारती कहती हैं, “जब मैं अपना रोल निभाती हूं तो मैं अपने रोल में पूरी तरह घुल-मिल जाती हूं। कामेडी के वक्त मेरा मकसद होता है कि ऑडियंस हंसे, भले ही मेरे मजाकिया अंदाज पर हंसे या मेरी थुलथुल काया पर। लोगों की खिलखिलाहट ही मेरी कला का असली मोल है।“

कीकू शारदा का असली नाम

कीकू शारदा के नाम से पहचाने जाने वाले राघवेंद्र का यह कीकू नाम प्यार का नाम अर्थात निक नेम है। तीन भाइयों में वह दूसरे नंबर पर हैं। उन्होंने कामर्स में ग्रेजुएशन की फिर एम.बीए की।

वह मोटे तो पहले से ही हैं साथ ही उनकी एक आदत है वह जहां भी होते हैं हंसी-ठिठोली करते हैं। अपने कॉलेज के दिनों में भी वह अपने सहपाठियों को बहुत हंसाया करते थे। उनके एक दोस्त ने हंसते हुए कहा था कि बॉलीवुड में चले जाओ, तुम बहुत हंसाते हो और एक्टिंग भी बढ़िया करते हो। बस, कीकू जब से एक्टिंग की दुनिया में आए तो फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। हालांकि कीकू के खानदान में आज तक कोई भी एक्टिंग से नहीं जुड़ा।

प्रेम और ठिठोली है पहचान

प्रेम के खास दिन अर्थात वेलेंटाइन डे 14 फरवरी को उनका जन्म हुआ। शायद यही कारण है कि वह सभी से बहुत प्रेम से मिलते हैं और खूब हंसाते हैं। वह मारवाड़ी परिवार से हैं। उनके दो प्यारे-प्यारे बेटे हैं – आर्यन और शौर्य। उनके बच्चों को गर्व है कि उनके पापा के ढेरों फैन हैं। कीकू ने कई टीवी शो व फिल्मों में रोल निभाए हैं। कपिल शर्मा शो में वह स्टेज पर आते हैं और किलकारियां गूंजने लगती हैं। बम्पर लॉटरी व बच्चा यादव उनके बहुत पसंद किए जाने वाले रोल हैं।

रूप निराले रच डाले

कीकू को औरत के गेटअप में भी आपने अकसर देखा होगा। उनका कहना है कि “कलाकार को जीवन में हर किरदार निभाना चाहिए। मुझे अच्छा लगता है जब मुझे अलग गेटअप में कुछ नया करने का मौका मिलता है।“ हर रोल में वह पूरी तरह डूब जाते हैं। अपने भारी शरीर के कारण वह स्टेज पर छा जाते हैं।